पत्रकार पंडित के घर पर सावन में खिला ब्रह्म कमल

अमझेरा। सावन माह के चौथे सोमवार की रात्रि में ब्रह्म कमल के तीन पुष्प खिले। बताया जाता है कि यह पुष्प दुर्लभ है जो वर्ष में एक बार ही रात्रि में खिलता है और सुबह होते ही वापस मुरझा जाता है। पत्रकार अभिजीत पंडित के निवास पर सोमवार रात्रि में घर के आंगन में ब्रह्म कमल के तीन पुष्प खिले जिसे देखने व दर्शन पूजन के लिए बड़ी सँख्या में मोहल्लेवासी पहुचे।


6 वर्ष पहले बोया था पत्ता


अभिजीत पंडित ने बताया कि 6 वर्ष पूर्व मेरे दादाजी स्व सत्यनारायण पंडित के द्वारा ब्रह्म कमल की पत्तियों को गमले में लगाया था। जिसमे आज एक साथ तीन पुष्प खिले है।.