प्रशासनिक अधिकारियों ने अंबेडकर जन्म भूमि पर रात को पहुंचकर जलाई कैंडल और दी श्रद्धांजलि

 कोरोना वायरस के कहर के कारण इस बार अंबेडकर जन्म भूमि 14 अप्रैल यानी उनकी जयंती पर सूनी रहेगी। हर बार जहां हजारों लोग दूर-दूर से यहां पहुंचते थे बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को अपनी श्रद्धांजलि देने, इस बार नहीं पहुंच पाएंगे।


पर भारत के महान सपूत को श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम सरकारी तौर पर आधिकारिक रूप से कल रात को भी हुआ और आज भी औपचारिक कार्यक्रम का आयोजन होगा। हालांकि कोरोना को देखते हुए आम लोगों का वहां पहुंचना वर्जित है पर शासकीय अधिकारी ही माल्यार्पण करके बाबा साहब को श्रद्धांजलि देंगे।


देखें रात का फोटो