पहला रोजा रखा धार जिले के बाग की नन्ही फ़ातेमा बानो ने

ग्राम बाग, जिला धार की बेटी फ़ातेमा बानो खत्री ने 7 साल की उम्र में पहला रोजा रखा। 15 घंटे तक तपती गर्मी के बीच बच्ची ने भूखे प्यासे रहते हुए इस्लाम के फर्ज को पूरा कर संयम और धर्म का पालन किया। पूरा घर फ़ातेमा के आगे पीछे उनका हाल चाल पूछने में लगा रहा। परिवार के बड़े लोगों ने भी फ़ातेमा की हौसला अफजाई की।


फ़ातेमा बानो खत्री की जिंदगी का यह पहला रोजा है। तपती धूप की परवाह किए बिना नन्ही फ़ातेमा ने रोजा रखा। अल्लाह और उसके रसूल की रजा हासिल करने के लिए भूख और प्यास की शिद्दत बर्दाश्त कर *फ़ातेमा ने कोरोना महामारी के खात्मे के लिए भी दुआएं मांगी, साथ ही देश के सभी बच्चों से कोरोना के ख़ात्मे के लिए दुआएँ मांगने को कहा।



 


टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र