त्वचा और बाल से संबंधित रोगों और उनकी देख-भाल से जुडे मुद्दे पर व्याख्यान

महू। 02 मार्च। डॉ बी आर अम्बेड़कर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय में सोमवार के त्वचा और बाल से संबंधित रोगों और उनकी देख-भाल से जुडे मुद्दे पर एक दिवसीय विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस व्याख्यान में इंदौर के प्रसिद्ध त्वचा और बाल रोग विशेषज्ञ ड़ॉ (मेजर) कन्हैया पाटीदार ने अपना व्याख्यान दिया। उन्होंने अपने व्याख्यान में इस बात को बहुत ही सहज ढंग से समझाया कि कैसे दिन और रात में त्वचा का ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने बताया कि दिन-भर में 5-6 लीटर पानी पीना ही चाहिए ताकि शरीर के भीतर पैदा हो रहे बुरे और हानिकारक तत्वों से शरीर का होने वाले नुकसान से बचाया जा सके। उन्होंने बताया कि शाम को 6 बजे के बाद ज्यादा से ज्यादा पानी को पीना चाहिए ताकि रात में सोने से पहले शरीर के हानिकारक तत्व बाहर निकल जाए। डॉ पाटीदार ने यह भी बताया बाजार में मिलने वाला हर स्किन प्रोडक्ट त्वचा के लिए सही नहीं होता इसलिए बिना डाक्टर की सलाह के किसी भी तरह के प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। उन्होंने ब्यूटी और हेयर उत्पादों के उपयोग के सही तरीकों के बार में बात की। इसके आलावा उन्होंने विद्यार्थयों एवं संकाय सदस्य के प्रश्नों और त्वचा और हेयर से संबंधित सवालों के जबाव भी दिए। कार्यक्रम के अध्यक्ष  प्रो डी के वर्मा ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि विश्वविद्यालय के अध्यादेश के अनुरूप निदेशालय द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य जागारूकता से जुडे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इसी क्रम में आज का विशेष व्याख्यान आयोजन किया गया जो सभी के लिए सार्थक एवं उपयोगी है। कार्यक्रम के संयोजक डॉ पी सी बंसल ने कार्यक्रम की रूपरेखा और आज के समय में त्वचा और हेयर से संबंधित बीमारियों की रोकथाम के उपायों पर बात की। कार्यक्रम का संचालन डॉ रश्मि जैन ने किया।



Popular posts
देवभूमि उत्तराखण्ड के एक वीर सपूत का देवलोक गमन
चित्र
सांसद पत्नी सूरज डामोर व नगर परिषद अध्यक्षा निर्मला डावर लगातार ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं से हो रहीं वोटिंग के लिए रुबरु~यशवंत जैन
चित्र
औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के युवा तरुणाई शुभम पाराशर का जन्म दिवस मनाया गया धूमधाम से
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय का ‘नक्सल ऑपरेशन एंड लेसन्स’ विषय पर राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन
चित्र