पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के कारण शेयर मार्केट में हाहाकार

सप्ताह के पहले कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार में हाहाकार की स्थिति है। कोरोना वायरस के काबू में न आने से आर्थिक अनिश्चय के माहौल और तेल के दामों में गिरावट की वजह से बाजार में भारी बिकवाली देखने को मिल रही है। यस बैंक के बढ़ते संकट और डॉलर के मुकाबले रुपये की कमजोर शुरुआत ने भी निवेशकों का मनोबल गिराया। दोपहर डेढ़ बजे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई का सेंसेक्स 2437 अंक यानी 6.52 प्रतिशत गिरकर 35,126 पर आ गया। निफ्टी में भी 667 अंकों यानी 6 प्रतिशत की गिरावट हुई और यह 10,322 के स्तर पर आ गया। निफ्टी सालभर के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है। 
शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान ही भारी गिरावट के चलते निवेशकों के करीब पांच लाख करोड़ रुपये डूब गए। बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण शुक्रवार को कारोबार के अंत में 1,44,31,224.41 करोड़ रुपये था, जो गिरकर 1, 39,39,640.96 रुपये रह गया। कारोबारियों का अनुमान है कि कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मंदी की आशंका गहराने के चलते शेयर बाजारों में नकारात्मक रुख है।