पत्रकारिता हेतु लेख कलमकार की कलम से🖊🖊🖊🖊✒✒🖊🖊

पत्रकारिता हेतु लेख कलमकार की कलम से🖊🖊🖊🖊✒✒🖊🖊


अगर हिम्मत है तो पूरा पढ़ें
कमजोर दिल वाले न पढ़ें


⏩एक जमाना था जब पत्रकारों से मिलने के लिए जिले का कलेक्टर और एसपी समय लिया करते थे। आज पत्रकार खुद ही उनके आगे- पीछे घूमते रहते हैं। इसके पीछे हमारी कोई न कोई स्वार्थ नीति छुपी रहती है। इसकी वजह से आज पत्रकारों की जमीर एक तरह से खूंटी पर टंगी हुई है।आज अधिकतर पत्रकार खबर के नाम पर प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों के पास डेरा डाले  दिखाई दे जाते हैं। आप मानो या ना मानो वही अपने को बड़ा पत्रकार साबित कर लेते हैं। उन्हें अपने जमीर से नीचे गिरा देता है। कहां गई वह कलम की ताक़त जिसमे सच्चाई और ईमानदारी के साथ पत्रकारों की खुद्दारी होती थी। बस, आज के दौर में लगता है कि पत्रकारों को पत्रकारिता के नाम पर अधिकारियों की ही जी- हजूरी दलाली आती है और तो और अधिकारियों को भी यह समझ में आता है कि इन्हें पत्रकारिता के नाम पर बस दलाली आती है। उन्होंने भी इनकी कैटेगिरी बना रखी है। कई पत्रकार सुबह से शाम तक अपने कार्यक्रमों के आयोजक ही ढूंढते रहते हैं। मेरे कहने का आशय यह है कि पत्रकार अपने जमीर को खूंटी पर न टांगें। ऐसे भाड़ पत्रकारों की वजह से ही सच्चे पत्रकारों को अपनी पत्रकारिता की कुर्बानी देनी पड़ रही है।


कलम की ताकत है-
आंधियां गम की चलेगी संवर जाऊंगा..
मैं तो दरिया हूं,समंदर में उतर जाऊंगा..!
मुझे सूली पर चढ़ाने की जरूरत क्या है.?
मेरे हाथों से कलम छीन लो मर जाऊंगा.!


टिप्पणियाँ
Popular posts
महू में निकली चुनरी यात्रा, सात रास्ता पर हुआ भव्य स्वागत
चित्र
चन्द्रशेखर आज़ाद नगर निकाय चुनाव फिर खिला कमल कुल वार्ड 15 में से 10 भाजपा, 02 कांग्रेस, 03 निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की
चित्र
पर्यटन नगरी मांडू में ‘धार का किला धार नगर की ऐतिहासिक विरासत का साक्षी’ पुस्‍तक का विमोचन, पीथमपुर टीआई आनंद तिवारी ने लिखी किताब में मिलेगी धार किले के संपूर्ण इतिहास की जानकारी
चित्र
15.9 हेक्टेयर में नया इंडस्ट्री एरिया डेवलप होगा। इसमें 90 प्लॉट उद्योग स्थापित होंगे, 5 हेक्टयर जमीन पर पार्किंग, गार्डन और ओपन एरिया रहेगा। 85 करोड़ रुपए का निवेश होना है
चित्र
जिला पंचायत सभापतियों के लिए मगलवार को हुआ निर्वाचन, 4 समतियों पर कांग्रेस का कब्जा भाजपा के खाते में दो ही समितियां आई
चित्र