MP में सियासी ड्रामा: ज्योतिरादित्य सिंधिया हो सकते हैं नये PCC चीफ, CM कमलनाथ राजी नहीं

दिल्ली. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) की कमलनाथ सरकार पर संकट बरकरार है. सीएम कमलनाथ (cm kamalnath) आज दिल्ली में सोनिया गांधी (sonia gandhi) से मिले और फौरन ही भोपाल रवाना हो गए. सीएम भोपाल जाने से  पहले कह गए कि कहीं किसी मसले पर ना कोई विवाद है और न ही संकट. आगे की रणनीति भोपाल में बनेगी. हालांकि इस बीच बड़ी खबर ये है मध्य प्रदेश में नये पीसीसी चीफ के नाम का ऐलान आज किया जा सकता है. सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर मिल रही है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया (JYOTIRADITYA SCINDIA) को पीसीसी चीफ बनाया जा सकता है. हालांकि कमलनाथ उनके नाम पर राजी नहीं हैं. उधर सिंधिया समर्थक मंत्री और विधायकों के फोन स्विच ऑफ हैं , जो कमलनाथ सरकार पर संकट के इशारे कर रहे हैं. खबर है कि सिंधिया समर्थक 6 मंत्री और 11 विधायक बंगलुरू में हैं.

सोनिया गांधी से मुलाकात
मध्य प्रदेश में सियासी उठापटक के बीच सीएम कमलनाथ आज दिल्ली आए और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिले. कुछ देर की मुलाकात के बाद वो बाहर निकले और मीडिया से बात भी की. कमलनाथ ने कहा भोपाल जा रहा हूं. आगे की रणनीति वहीं बनाई जाएगी. उन्होंने कहा राज्यसभा सीट और दावेदारी को लेकर कोई विवाद नही हैं. हमारी नेता सोनिया गांधी से मेरी हर मुद्दे पर चर्चा हुई है. राज्‍यसभा के नामों को फैसला जल्‍दी किया जाएगा.

घोटालों के खुलासे से बीजेपी परेशान

सीएम कमलनाथ ने मध्य प्रदेश के ताजा राजनीतिक हालात के बारे में विपक्ष पर हमला करते हुए कहा बीजेपी नेताओं से रहा नहीं जा रहा है. 15 साल के घोटाला का खुलासा होने जा रहा है. इस वजह से भाजपा के नेता परेशान हैं. सीएम ने कहा कि सब जानते हैं मध्य प्रदेश कांग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है. मैंने हर कांग्रेस कार्यकर्ता का साथ दिया है. मेरा कोई गुट नहीं है. गायब हुए विधायकों के बारे में कमलनाथ ने कहा-विधायकों ने तो यह बात भी बोली है कि वह तीर्थ यात्रा पर गए थे. सीएम ने राज्य के लोगों होली को शुभकामनाएं भी दीं और भोपाल के लिए रवाना हो गए.

सिंधिया समर्थक मंत्री-विधायकों के फोन बंद
इस बीच सिंधिया समर्थक मंत्री और विधायकों का नया पैंतरा सामने आया है. सिंधिया खेमे के मंत्रियों और विधायकों के फोन स्विच ऑफ हैं. इसमें विधायक जसवंत जाटव, मुन्नालाल गोयल, गिर्राज दंडोतिया, ओपीएस भदौरिया के अलावा कमलनाथ सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, महिला विकास मंत्री इमरती देवी और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट जैसे बड़े नाम शामिल हैं. पता चला है कि ये 6 मंत्री और 11 विधायक बंगलुरू में हैं.

 ये 6 मंत्री और 11 विधायक
मंत्री..तुलसी सिलावट
गोविन्द सिंह राजपूत
प्रधुम्न सिंह तोमर
इमरती देवी
प्रभुराम चोधरी
महेन्द्र सिसोदिया
विधायक
मुन्ना लाल गोयल
गिरिराज दंडोतिया
ओपी भदोरिया
विरजेंद्र यादव
जसपाल जजजी
कमलेश जाटव
राजवर्धन सिंह
रघुराज कंसना
सुरेश धाकड़
हरदीप डंग
रक्षा सिरोनिया जसवंत

यूथ कांग्रेस चुनाव टले
एमपी में जारी सियासी घमासान के बीच मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के चुनाव टाल दिए गए हैं. अब राज्यसभा चुनाव के बाद चुनाव का कार्यक्रम बनेगा.कांग्रेस के सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि प्रदेश अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी नेताओं से मुलाकात की और उसके बाद चुनाव टालने का फैसला लिया गया.

तेज़ी से बदल रहा है घटनाक्रम
इस बीच मध्य प्रदेश में तेज़ी से राजनीतिक घटनाक्रम बदल रहा है. दिल्ली से लौटकर मुख्यमंत्री कमलनाथ सीधे सीएम हाउस पहुंचे.सामान्य प्रशासन मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह भिंड में थे, वो भी तत्काल लौटे और सीएम हाउस पहुंचे. उनके साथ वित्त मंत्री तरुण भनोत,मंत्री लाखन सिंह और मंत्री हुकुम सिंह किराड़ा, मंत्री आरिफ अकील, जीतू पटवारी भी मौजूद हैं.सीएम ने सभी मंत्रियों की बैठक बुलाई है.