जनादेश का अपमान करते नज़र आ रहे है राजनेता, भाजपा कर रही है सरकार अस्थिर करने का प्रयास

लगभग साल सवा साल पहले कांग्रेस की सरकार काबिज़ हुई थी ... लंबे समय यानि 15 वर्षों से भाजपा सत्ता सुख भोगती आ रही थी ... लेकिन पिछले विधानसभा सभा चुनाव में सत्ता सुख भोगती आ रही भाजपा बहुमत हासिल नहीं कर पाई ...उसी दिन से भाजपा अपनी हार को पचा नहीं पा रही है ... और तभी से विधवा विलाप कर रही है ... इनकी विपक्ष में भूमिका रचनात्मक विपक्ष की आजतक नही रही ... बस किसी तरह सरकार को कमजोर करना और सरकार गिराने की इनकी कोशिशे बदस्तूर जारी है । सिर्फ बनावटी  तौर तरीकों से विरोध प्रकट करना काफी नहीं होता ... अरे मौजूदा सरकार को साल सवा साल ही हुए हैं ....और जनादेश जनता का है इनके निर्णय का अपमान तो मत करो ...  पूरे पाँच साल जनता की सेवा का मौका तो दो ... अगर जनता जनार्दन नाखुश हुई तो खुदबखुद सरकार को उखाड़ फेंकेगी ... आए दिन के सरकार गिराने की ड्रामेबाज़ी से प्रदेश का विकास कैसे होगा ? और एक पल के लिए मान लिया जाए की सरकार गिर भी गई तो आप भी प्रदेश की जनता से किस मुँह से वोट मांगने जाओगे ....