देश भर में कोरोना को लेकर कोहराम, एहतियात के सख्त होते कदम और सैन्य छावनी महू में .....????

देश भर में कोरोना को लेकर कोहराम, एहतियात के सख्त होते कदम और सैन्य छावनी महू में .....????
इंदौर-पीथमपुर को महू छावनी से खतरा...रोज़ाना ४० से ४५ हज़ार लोगों का आवागमन. सेना और उसके परिवारों को खतरा ...जो  हज़ारों की संख्या में रहते हैं .. महू की लाख आबादी वाली जनता तो जान हथेली पर लेकर चल रही है......!
तो क्या आ बेल मुझे मार वाली कहावत चरितार्थ नहीं हो रही है महू से ?     
डॉ बाबा साहब की जन्मस्थली को भी किया जा रहा है अपमानित! और अनुयायी भी चुप ? 
आज की इन ताज़ा तस्वीरों पर नज़र डालिये ज़रा और सोचिये कहाँ रह रहे हैं आप ?
१ खुले आम बीच शहर में, गली, मोहल्लों में ढोर, सूअर कुत्तों का विचरण!



२ हाट मैदान में सब्जी के ग्राहकों और दुकानदारों के बीच घूमते हैं ढोर, सूअर !



३. स्लाटर हॉउस में अथाह दल-दली गंदगी ..... इसे लगी हुई है झुग्गी- झोपडी और रहने वाले हज़ारों गरीब लोग ? 



४. सब्जी मार्किट में खुले में बिक रहा है गोश्त और मछली ! 



५.  शहर का मुख्य नाला और नालिया, गंदगी से बेजार-लबालब ! 



 


फिर भी चुप है: -


जिला प्रशासन! 
सैन्य प्रशासन!
छावनी परिषद ! 
स्थानीय प्रशसन!
चुप हैं ओठों पार्षद! 
महू से लगी हुई नगर पंचायतें!
ग्राम पंचायतें ! 


फिर भी खामोश हैं: - 
राजनैतिक दल!
बुद्धिजीवी वकील समुदाय !
गणमान्य नागरिक ! 



इन हालातों और कोरोना वाइरस के खतरे के बाद भी इस शहर के नागरिक भी चुप रहेंगे ? 
उठो.....  अपने और अपने परिवार के स्वास्थ के लिए 
पूरा देश जाग रहा है और आप सो रहे हैं ?