श्री तेजाजी जन्मोत्सव पर वाहन रैली

 धार् निप्र लोक देवता श्री सत्यवादी वीर तेजाजी महाराज के जन्मोत्सव के उपलक्ष सभी समाज मिलकर,समरसता का संदेश देकर एक विशाल वाहन रैली का आयोज जाट धर्मशाला,सुन्दरबन कासोनी से किया जा रहा है जो शहर के प्रमुख मार्गों से होकर मतलबपुरा धार में श्री तेजाजी महाराज के मंदिर में महाआरती के साथ समापन होगा श्री तेजाजी महाराज का जन्म राजस्थान प्रदेश के मारवाड़ क्षेत्र में नागौर जिले के खरनाल जनपद में  माघ शुक्ल की चतुर्दशी को जाटधौलीया  परिवार में  हुआ था श्री तेजाजी के जन्म के समय चारों दिशाओं में तेज प्रकाश फैल गया था इसलिए इनका नाम तेजा रखा गया बचपन में ही असाधारण प्रतिभा के धनी कुंवर तेजपाल में बचपन से ही चमत्कारी व बाल्य उवतार के लक्षण दिखाई देने लगे , वह गरीबों और दीन दुखियों की सेवा व गौ माता की सेवा को बड़ा मानते थे ऊंच-नीच के भेदभाव को मिटाकर समाज को जागृत किया खेत में हल जोतने की परंपरा को भी शुरू किया , सभी का सम्मान करना , श्री तेजाजी अपने वचन पर अडिग रहने वाले,वचन पुरा करने के लिए अपने प्राणों की भी परवाह नहीं की, आज भी किसी भी सर्पदंश के समय श्री तेजाजी महाराज के नाम की ताती बाँधने पर जहर का असर नहीं होता है, समस्त किसान वर्ग अपनी खेती के कार्य शुरू करने से पहले श्री तेजाजी महाराज के पुजन पाठ के साथ ही किया जाता है,यह वाहन रैली भी समरस्ता के भाव के साथ एकता का संदेश देने के लिए ही आयोजित की गई है,समाज को जातिवाद छोडकर सभी समाज को जातियों को आपस में मिलजुलकर सभी त्योहारों को मनाना चाहिए, ताकि हम आपस में बटे नहीं