रशियन हैकर्स की मदद से कर रहे थे लोगों के अकाउंट खाली

रशियन हैकर की वेबसाईटसे क्रेडिटकार्ड का ऑनलाईन डाटा खरीदकर जनता व बैंको को लाखो रुपये की चपत लगाने वाले आरोपीगण राज्य सायबर सेल इन्दौर की गिरफ्त मे।


फरियादी अनूप तिवारी के क्रेडिड कार्ड से बिना फरियादी की जानकारी के निकले थे लगभग 22000/- रुपये।
आरोपीगण द्वारा उक्त रुपयो का प्रयोग फेसबुक पर विज्ञापन प्रसारित करने के लिये किया था।
आरोपीगण को फरियादी के कार्ड का डेटा अंडरग्राउंड ऑनलाईन साइट्स से मिला।
आरोपीगण क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा बिटकॉइन का प्रयोग कर खरीदते है।
लाखो लोगो के क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा बिक रहा है ऑनलाईन।
आरोपियो के पास से उनके द्वारा खरीदा गया लगभग 700 क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा किया गया है जब्त।
चूंकि आरोपियो द्वारा उक्त डेटा का प्रयोग अनऑथोराईज्ड ट्रांजेक्शन (बिना OTP) किया गया गया है, जहाँ यदि पीडित समय पर बैंक में शिकायत करें तो बैंक पीड़ित को पूरा पैसा रिफंड करना होता है, इस तरह आरोपियो ने जनता के साथ साथ बैंको को भी लगाया है, लाखो रुपयो का चूना।
आरोपी चिराग, उम्र 26 वर्ष, ने कम्युटर इजीनियरिंग से पोलिटेक्नीक डिप्लोमा किया हुआ है।
आरोपी मुकूल, उम्र 19 वर्ष, ने इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग से पोलेटेक्निक डिप्लोमा की अधुरी पढ़ाई की है। (पोलिटेक्नीक डिप्लोमा ड्रॉप आउट है)
 दोनो आरोपीगण चलाते है Roaring Wolf Media Pvt. Ltd
 आरोपी चिराग उक्त कंपनी में को फाउंडर व सीईओ है।
 आरोपी मूकुल उक्त कंपनी में सीजीओ (चीफ ग्रोथ ऑफिसर) है।
 आरोपीगण द्वारा उक्त कंपनी के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग का कार्य किया जाता है।
 आरोपीगण Tech. freak होकर बचपन से ही नई तकनीको को सीखने के लिये लालायित रहते है।
विशेष पुलिस महानिदेशक श्री राजेन्द्र कुमार एवं अति. पुलिस महानिदेशक श्री मिलिन्द कानस्कर द्वारा अपराधो के तत्काल निकाल करने के संबंध मे हाल मे दिये गये दिशा निर्देशो के पालन मे की गई कार्यवाही मे पुलिस अधीक्षक, राज्य सायबर सेल इन्दौर श्री जितेन्द्र सिंह ने बताया दिनांक 09-12-19 को शिकायतकर्ता अनूप कुमार तिवारी पिता श्री शिवकुमार तिवारी निवासी N-4 श्रीजी वैली, बिचोली मर्दाना इंदौर द्वारा एक लिखित आवेदन दिया कि दिनांक 09-12-19 को सुबह 06:13 बजे मेरे HDFC क्रेडिट कार्ड से बिना मेरी जानकारी व कोई OTP शेयर किये कुल रूपए 21188.60/- रूपए का फ्रॉड ट्रांसेक्शन हो गया है। जिसे शिकायत क्रमांक 444/19 पर दर्ज किया गया |
जिस पर से जांच उपरांत थाना सायबर सेल भोपाल मे अपराध क्रमांक 14/2020 धारा419, 420,467,468,471,120B,IPC, 66Dआईटी एक्ट का दर्ज कर निरीक्षक राशिद अहमद द्वारा विवेचना में लिया गया। जिसमें अनुसंधान के दौरान आये तथ्यो व सायबर सेल जोन इंदौर की टीम (निरी. राशिद अहमद, उनि. पूजा मुवेल, उनि. आमोदसिंह राठौर व आरक्षक गजेन्द्र सिंह राठौर, विवेक मिश्रा, आशीष शुक्ला) द्वारा किये गये ग्राउंड वर्क व सायबर सर्विलांस के अनुसार पाया गया कि उक्त ट्रांजेक्शन Roaring Wolf Media Pvt. Ltd. के कर्मचारियो द्वारा किया गया है।
अतः आरोपियो की तलाश व पहचान स्थापित करने हेतु पुलिस अधीक्षक राज्य सायबर सेल जोन इंदौर के निर्देशन में एक टीम गठित कर Roaring Wolf Media Pvt. Ltd. के कार्यालय व जहाँ उसके मालिक व कर्मचारी रहते है (साकेत नगर, साईकृपा नगर व शेखर सेण्टर पलासिया इंदौर) पर संदिग्धो की तलाश कर व विभिन्न कर्मचारियो से पुछताछ कर आरोपियो की पहचान स्थापित की गई व आरोपीगण चिराग एलावधी (Co Founder & CEO) व मुकुल कुमार (Chief Growth Officer) को गिरफ्तार किया गया। जिन्होने बताया कि Roaring Wolf Media Pvt. Ltd.  एक डिजिटल मार्केटिंग कंपनी है जो कि विभिन्न कंपनियो व लोगो के कंटेन्ट का सोशल मीडिया के माध्यम से एडवरटाइज (विज्ञापन) करवाती है। यह विज्ञापन सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे- गूगल, फेसबुक, यूट्युब, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि पर प्रसारित किये जाते है। इसी तरह किसी सोशल मीडिया यूजर्स के लाइक्स व फालोअर्स को भी बढ़ाने का काम उक्त कंपनी करती है। उक्त काम को करने के लिये सोशल मीडिया के जिस प्लेटफार्म पर विज्ञापन प्रसारित किया जाना होता है उसके लिये उक्त सर्विस प्रोवाइडर को पेमेण्ट करना होता है। जिसके लिये हम कभी स्वयं के खातो से एवं कभी कभी अंडरग्राउंड ऑनलाईन साईट्स से क्रेडिट कार्ड का डाटा सर्च करके व खरीद के पेमेंट करते थे। अंडरग्राउंड ऑनलाईन साईट्स पर क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डाटा खरीदने बेचने के लिये बिट कॉइन का प्रयोग किया जाता है, जिसके लिये आरोपियो ने भी बिटकॉइन अकाउंट बनाये हुए है। आरोपियो द्वारा बताया गया कि इस प्रकार की वेबसाईट पर लाखो लोगो का क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा खरीदा बेचा जाता है।
आरोपियो के बताये अनुसार आरोपियो द्वारा घटना में प्रयुक्त दो लैपटॉप, दो आईफोन व आरोपीगण द्वारा खरीदा गया क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा को विधिवत जब्त किया गया है।
   उक्त अनुसंधान मे निरीक्षक. राशिद अहमद, उनि. पूजा मूवेल, उनि. आमोद सिंह राठौर, उनि. रीना चौहान, उनि. विनोद सिंह राठौर, प्रधान आरक्षक मनोज राठौर, आरक्षक गजेन्द्र राठौर, आरक्षक विजय बड़ोदकर, आरक्षक विवेक मिश्रा, आरक्षक विशाल महाजन, आरक्षक आशीष शुक्ला, आरक्षक रमेश भिड़े, आरक्षक राहुल सिंह गौर, आरक्षक चालक दिनेश महिला आरक्षक दीपिका, महिला आरक्षक विनीता की महत्वपूर्ण भूमिका रही


आरोपियो के पूरा नाम पता -                            
चिराग एलावधी पिता श्री पवन कुमार एलावधी उम्र 26 साल (जन्म दिनांक 13/08/1994) निवासी 302 सूर्या अपार्टमेंट साकेत नगर इंदौर पूर्व पता सेकंड फ्लोर 291 साईं कृपा कॉलोनी शारदा विला महालक्ष्मी नगर के पास इंदौर स्थायी पता हाउस नंबर 15A वार्ड नंबर 11 सिमी शॉप के सामने तहसील बरवाला जिला हिसार हरियाणा
मुकुल कुमार पिता हरिप्रकाश कुमार उम्र 19 साल (जन्म दिनांक 13-08-2000) स्थायी पता 113 मोहल्लागंज तह. जानसट जिला मुज्जफरपुर नगर उत्तर प्रदेश 251314 हाल मुकाम 302 , सूर्या अपार्टमेंट साकेत नगर इंदौर 


ऑनलाईन शॉपिंग के समय अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड डेटा को सुरक्षित रखने के उपाय –
कंपनी की ओरिजिनल वेबसाईट अथवा फेमेलियर वेबसाईट पर हा अपने कार्ड्स का उपयोग करें।ऑनलाईन कार्ड अथवा खातो की जानकारी का उपयोग पब्लिक वाई फाई पर न करें।
हमेशा वेबसाईट पर ताले का निशान व https  को चेक करें।
फिशिंग स्कैम्स से बचें (अपरिचित लिंक्स पर जानकारी देने से बचे)।
सिक्युरिटी ट्रेंड्स व फीचर्स के बारे में जानकारी अपडेट रखे।
वर्चुअल क्रेडिट कार्ड नम्बर का प्रयोग करें।