मुफ्त में बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड! मोदी सरकार ने खत्म किए ये चार्ज, 4 फीसदी पर 3 लाख का लोन

दिल्ली. मोदी सरकार ने किसानों को राहत देने के लिए बड़ा कदम उठाया है. खेती-किसानी के लिए सिर्फ 4 फीसदी ब्याज दर पर पैसा देने के लिए जो किसान क्रेडिट कार्ड (KCC-Kisan Credit Card) बनता है, उसे बनवाने के लिए लगने वाली सारी प्रोसेसिंग फीस (KCC Waive off Processing Fees other Charges), इंस्पेक्शन और लेजर फोलियो चार्ज को खत्म कर दिया गया है. अगर कोई बैंक अब भी किसी किसान से ये चार्ज वसूलता है तो उस पर कार्रवाई हो सकती है. इसमें 3 लाख रुपये तक का लोन मिलता है. पहले बिना गारंटी के 1 लाख का लोन मिलता था जिसे बढ़ाकर 1.60 लाख रुपए कर दिया गया है.

किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानिए

(1) अगर आपके पास खेती करने के लिए ज़मीन है तो अपनी जमीन को बिना गिरवी रखे बिना लोन ले सकते हैं. इसकी सीमा एक लाख रुपये थी. लेकिन अब आरबीआई ने बिना गारंटी वाले कृषि लोन की सीमा 1.60 लाख रुपये कर दी है.

(2) पशुपालन और मछलीपालन वाले किसानों काे भी अब केसीसी के जरिए 2 लाख रुपये प्रति किसान की सीमा तक 4 फीसदी की ब्याज दर पर लाभ मिलेगा, ताकि किसानों को साहूकारों से मुक्ति मिले. (3) इस समय देश में 7,02,93,075 किसानों के पास केसीसी है. केसीसी के तहत अधिक से अधिक संख्या में किसानों को लाने के लिए सरकार ने बैंकों के सहयोग से किसानों के केसीसी बनाने का एक अभियान शुरू किया है. जिसके तहत आवेदन सरल किया गया है और फार्म प्राप्त होने की तारीख से 14 दिनों के भीतर केसीसी जारी करने का आदेश शामिल है.

कैसे 4 फीसदी की दर से मिलता है कृषि लोन

खेती-किसानी के लिए ब्याजदर वैसे तो 9 परसेंट है. लेकिन सरकार इसमें 2 परसेंट की सब्सिडी देती है. इस तरह यह 7 प्रतिशत पड़ता है. लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 फीसदी और छूट मिल जाती है. इस तरह इसकी दर ईमानदार किसानों के लिए मात्र 4 फीसदी रह जाती है. कोई भी साहूकार इतनी सस्ती दर पर किसी को कर्ज नहीं दे सकता. इसलिए अगर आपको खेती-किसानी के लिए कर्ज चाहिए तो बैंक जाईए और किसान क्रेडिट कार्ड बनवाईए. आपको 3 लाख रुपये तक का लोन मिल जाएगा