जनसुनवाई : दर्द सुनाते हुए छलके बेटियों के आंसू, एक के साथ धोखाधड़ी तो दूसरी बिटिया पुलिस सहायता को मोहताज

  आशीष यादव, धार 




- ममता फाउंडेशन के चक्कर में १७ लाख रुपए का कर्ज, बेटी ने कहा आत्महत्या ही एक मात्रा रास्ता 


- विवाहित बेटी ने दिया आवेदन - पुलिसकर्मी का बेटा आईएसडी कॉल करके कर रहा परेशान 


जिला पंचायत सभाकक्ष में मंगलवार को जनसुनवाई हुई। इस दौरान 110 लोगों ने अपनी समस्या के आवेदन कलेक्टर को सौंपे। सरकार बेटियों के सम्मान में कई महत्वपूर्ण निर्णय ले रही है और काम कर रही है। लेकिन मंगलवार को दो बेटियां जनसुनवाई में पहुंची, जो हर स्तर से निराश होकर कलेक्टर डॉ. पंकज जैन के पास पहुंची थी। बेटियों की यही फरियादी थी कि अगर यहां से भी नाउम्मीदी मिली तो सुसाइड के अलावा ओर कोई रास्ता नहीं बचेगा। ऐसे में सहायता की फरियाद लेकर दोनों बिटिया जब जनसुनवाई पहुंची तो पीड़ा सुनाते हुए उनकी आंखों से आंसू भी छलकने लगे। लेकिन परेशानी के इस स्तर के बाद भी यदि बेटियों को न्याय नहीं मिलता है तो यह प्रशासन और पुलिस के लिए बड़ा फैलियर ही साबित होगा। 

धोखाधड़ी ने बढ़ाई छात्रा की परेशानी 

बगड़ी की एक बेटी सोनिका पटेल ने अपनी साथ ही ठगी की दास्तां सुनाई। बिटिया पटेल ने बताया चैन सिस्टम पर ममता महिला उत्थान संगठन में ट्रेनिंग सेंटर बनाने के नाम पर महिलाओं को जोड़ा था। यह चैन सिस्टम की तरह काम करता है। फाउंडेशन नामक संस्था ने समूह बनवाएं और रुपए जमा करवाने के बाद संस्था भाग गई है। बिटिया ने कहा अब लोग मुझसे रुपए मांग रहे है, मेरे पास आत्महत्या के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है। अपनी बात कहते हुए बिटिया फफक कर रोने लगी। सोनिका ने रोते हुए यहां तक कहा कि अब मेरे पास मरने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। पिता को भी जानकारी देने से भी सोनिका अधिकारियों को रोकते रही। दरअसल इस फाउंडेशन पर करोड़ों की धोखाधड़ी के कई केस इंदौर और धार में दर्ज है। 

पुलिसकर्मी के बेटे से प्रताडि़त बिटिया 

इसी तरह एक अन्य बेटी ने भी अपनी पीड़ा कलेक्टर को बताई। रूंधे गले और आंख में आंसू लिए बिटिया अपनी शादी और कॅरियर बचाने की फरियाद लेकर पहुंची थी। आवेदन में बताया पुलिसकर्मी का बेटा जय देवरे लंबे समय से परेशान कर रहा है। सोशल मीडिया पर फोटो वायरल कर चुका है। आईएसडी यानी इंटरनेशनल नंबरों से कॉल आते है। एफआईआर भी करवाई लेकिन इसके बाद भी कॉल और धमकियों का सिलसिला जारी है। जय देवरे की प्रताडऩा से तंग बिटिया मंगलवार को जनसुनवाई पहुंची तो कलेक्टर जैन के सामने भी आंखू और दर्द छलक गया। बिटिया ने परेशानी और प्रताडऩा से तंग आकर खुद को खत्म तक करने की बात कही। इस पर कलेक्टर ने दोनों मामले महिला एवं बाल विकास को सौंपे और काउंसलिंग कर कानूनी सहायता दिलवाने के निर्देश दिए।

टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र