धार जिले में झमाझम बारिश तालाब तलाई हुए फूल किसानों के चहरे खिले, सावन महीने की पहली बारिश से हुआ फायदा

आशीष यादव, धार 

धार में झमाझम बारिश का दौर शुरु हो चुका हैं, कल रात में 8 बजे के बाद बने अचानक मौसम से धार सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में काफी बारिश हुई है। इस बारिश का लोगों को काफी इंतजार था, बुधवार सुबह से भी मौसम बना हुआ है। दोपहर तक रिमझीम बारिश हुई शाम होते हुए बारिश का दौर रुख गया । इधर रात में जमकर बरसे मेघा के कारण शहर के निचले हिस्से के मोहल्लों में बनी गलियों में डेढ के करीब पानी भरा गया था अगर रात में बारिश का क्रम बढ़ता तो जरूर लोगों के घरों में भी पानी घुस सकता था। निसरपुर सहित आसपास के इलाकों में नर्मदा का जलस्तर खतरे के निशान से 8-9 मीटर उपर दर्ज किया गया है। इस कारण बड़वानी और चिखल्दा-धार में लगने वाला राजघाट पुल डूबने की कगार पर पहुंच गया है। वहीं निसरपुर स्थित उरी-बाघनी नदी पर बना पुल भी डूब गया है। नए पुल से यातायात शुरू नहीं होने के कारण 12 गांवों से संपर्क टूट गया है। बीते 24 घंटे में जिले में 385.8 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई है। सबसे ज्यादा बारिश धार शहर में 80.3 यानी तीन इंच करीब बारिश रिकार्ड की गई है। भारी बारिश के अलर्ट के चलते डूब क्षेत्रों में एसडीआरएफ की टीमें को अलर्ट पर रखा गया है।

दरअसल अरब सागर में बने लो प्रेशर एरिया के कारण मप्र में बारिश मजबूत सिस्टम बना हुआ है। इस कारण आने वाले 48 घंटे बारिश होने की संभावना मौसम विभाग की तरफ से जताई गई है। निम्न दाब के केंद्र से होते हुए अरब सागर तक फैली है। दो दिन बाद इस सिस्टम के कमजोर पडऩे से बारिश से कुछ राहत मिलने की संभावना जताई जा रही है। इस सिस्टम के कारण कई राज्यों में बारिश का दौर एक साथ देखने को मिलेगा। इससे इंदौर संभाग भी पूरी तरह इफेक्ट रहने का अनुमान है। 


निकासी के लिए लगवाई मोटर 

वही जलससाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री बी एल निनामा ने बताया के 3 घण्टे में 1 मीटर तक डेमो में पानी बढ़ रहा है वही कार्यालय सरदारपुर में स्थित कालीकराय डेम का लेवल अभी 468.95 मीटर हैं, लगातार बारिश के कारण पानी बढ़ता ही जा रहा है। इस डेम के गेटों को 474.30 होने पर खोला जाता है। साथ ही माही डेम में पानी का लेवल 444.02 मीटर है। जिसे 451 होने पर खोला जाएगा। धार में पूरी रात बारिश हुई हैं, इस मौमस में पहली मर्तबा मायापुरी कॉलोनी में करीब डेढ फीट तक पानी भर गया। हालांकि नगर पालिका की तरफ से जल निकासी की व्यवस्था होने के कारण मोटर चालू करवाई गई। इससे पानी का लेवल वापस उतर गया। इसके अलावा शहर में कहीं भी जलभराव की स्थिति देखने को नहीं मिली है। लेकिन बारिश के चलते बिजली आपूर्ति रातभर प्रभावित रही। इस कारण लोगों को काफी परेशान होना पड़ा।  



5 इंच अधिक बारिश 

कलेक्टर कार्यालय की भू-अभिलेख शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक गत वर्ष की तुलना में 5 इंच अधिक बारिश हुई है। पिछले साल अभी तक 334.9 यानी 13 इंच के करीब बारिश हुई थी, किंतु एक जून से अब तक जिले में औसत 469.4 यानी 18 इंच से अधिक बारिश दर्ज की जा चुकी है। साथ ही धार शहर में 22 इंच के करीब, नालछा में 18 इंच के करीब, तिरला में 21 इंच, पीथमपुर में 15 इंच, बदनावर में 24 इंच के करीब, सरदारपुर में 21 इंच के करीब, कुक्षी में 25 इंच, बाग में 18 इंच, डही में 13 इंच, निसरपुर में 16 इंच के करीब, मनावर में 19 इंच के करीब, उमरबन में 20 इंच, गंधवानी में 16 इंच, धरमपुरी में 13 इंच बारिश दर्ज की गई है।


फसलों के लिए होगा फायदा

मंगलवार रात में हुई बारिश से फसलों को फायदा होगा वही आने वाले दिन के लिए भी तालाब भरने से आगे की फसलो की नींव बंधी है वैज्ञानिक जी एस गठिये ने बताया कि किसानों को सतर्क रहना होगा व फसलों में कीटों का प्रभाव देखना होगा अगर फसलों में कुछ बीमारी आती है तो किसानों को कीटनाशक दवाइयों का उपयोग करना होगा वही अभी दो-चार दिन मौसम ऐसा ही बना रहेगा।



टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र