अलीराजपुर जिला जेल के शासकीय आवास कॉलोनी में महिला के साथ दुष्कर्म करने वाले दो जेल प्रहरी को पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल ~ यशवंत जैन

अलीराजपुर। 

          अलीराजपुर के जिला जेल में जेल प्रहरीयो द्वारा एक महिला से रेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।

                  जिला जेल में पदस्थ दो जेल प्रहरीयो पर देवास जिले के बागली निवासी एक आदिवासी महिला ने दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। डी एस पी अजाक्स थाना आदित्य सिंह ठाकुर ने बताया कि दरअसल पीड़ित महिला और उसके पति फर्जी शादी के आरोप में जिला जेल बड़वानी में बंद थे। लेकिन कोरोना काल में महिला को पैरोल पर छोड़ दिया गया था। और उसके पति को अलीराजपुर जेल में भेज दिया था। इसी बीच वह जुलाई-अगस्त 2021 में अलीराजपुर जेल में कैद अपने पति से मिलने आई थी, इसी दौरान जेल में पदस्थ जेल प्रहरी अनिल त्रिवेदी ने महिला को किसी बहाने से जेल परिसर में बने सरकारी आवास में बुलाया और वहां उसके साथ जबरदस्ती की, इस दौरान अनिल का साथी जेल प्रहरी वीरेंद्र यादव भी वहां मौजूद था। दोनों जेल प्रहरियों ने बारी-बारी से महिला के साथ दुष्कर्म किया। दोनों आरोपियों ने इस घटना के बारे में किसी को बताने से मना करते हुए महिला को जान से मारने और जिंदगीभर जेल में सड़ा देने की धमकी भी दी। जिसके बाद महिला डर गई और किसी को भी इस घटना के बारे में जानकारी नही दी। घटना के 3 महीने बाद जब महिला की पैरोल ख़त्म हुई और उसे उसके पति के साथ जेल में दाखिल किया गया तब उसने इस घटना की जानकारी परिजनों को दी। जिसके बाद महिला के परिजनों ने मामले की शिकायत अलीराजपुर अजाक्स थाने में की। 

                  जेल अधिकारी जेलर जे एस बाथम ने बताया कि महिला के परिजनों ने एक आवेदन जेल में दिया था जिसके बाद से ही यह मामला सज्ञान में आया, ओर महिला के परिजनों की शिकायत के बाद अजाक्स थाना पुलिस ने दोनों जेल प्रहरियों के खिलाफ बलात्कार एवं एसटी-एससी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर आरोपियो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।