कपड़े पर जीएसटी बढ़ाने के विरोध में कैट के जिलाध्यक्ष मुकेश जैन ने की केंद्रीय मंत्री से मुलाकात~यशवंत जैन

 कैट के केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल ने कपड़े पर जीएसटी बढ़ाने के विरोध में केंद्रीय मंत्री से की मुलाकात, पूर्वानुसार ही जीएसटी दर लागू रखी जाए

सरकार द्वारा अमेजन कंपनी पर 200 करोड़ का जुर्माना लगाया जाना कैट की एकता का प्रतीक

झाबुआ। केंद्र सरकार द्वारा अभी हाल ही में कपड़ा रेडिमेड एवं अन्य वस्तुओं पर जीएसटी 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत किया गया है। जिसके विरोध में कैट के केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात कर विरोध दर्ज कराते हुए सभी वस्तुओं पर यथा-स्थिति 5 प्रतिशत जीएसटी रखी जाने की मांग की है। झाबुआ जिले सहित मप्र में भी बढ़े हुए जीएसटी का विरोध करते हुए पूर्व में घोषित 5 प्रतिशत ही यथास्थिति रखी जाए।

जानकारी देते हुए काँफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के जिलाध्यक्ष मुकेश जैन ‘नाकोड़ा; ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल में कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल सहित अन्य राष्ट्रीय-प्रादेशिक पदाधिकारी उपस्थित थे। वर्तमान में अमेजोन द्वारा जो व्यापार ऑनलाइन करते हुए नशीली वस्तुओं का सप्लाय किया गया। जिसका कांफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स द्वारा पूरे देश में जोर-शोर से विरोध किया गया था। जिसकी आवाज भारत सरकार तक पहुंची। बाद सरकार ने कंपनी पर 200 करोड़ का जुर्माना लगाया है। यह ‘‘व्यापारी एकता एवं कैट की एकता’’ का सकारात्मक परिणाम है। जिला कैट के सभी पदाधिकारी एवं कपड़ा व्यवसायी केट की केंद्रीय समिति का आभार मानते है। साथ ही मांग करते है कि केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में जो कपड़ा रेडिमेड और अन्य वस्तुओं पर जीएसटी बढ़ाया गया है, उसे भी तत्काल सरकार द्वारा वापस लेते हुए पूर्ववत ही रखा जाए।

फोटो 007 -ः मुकेश जैन, जिलाध्यक्ष, कैट झाबुआ।