लॉक डॉउन व सोशल डिस्टेंस का सख्ती से नहीं हो रहा पालन, जिला प्रशासन के एरिया सील करने के बाद भी दूसरे मार्ग से हो रहा आना जाना

धार। लॉक डॉउन व सोशल डिस्टेंस का पालन जिला प्रशासन द्वारा सख्ती से नहीं होने के कारण सुबह के समय आम आदमी जल्दबाजी में सब्जी, किराना, दूध आदि लेने के लिए एकसाथ निकल पड़ते हैं। समय कम होने के कारण जल्दी में सामान लेने के चक्कर में दुकानों पर भीड़ बढ़ जाती हैं और सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं हो पा रहा है। इसी प्रकार दिनभर दोपहिया वाहनों से लोगो का आना जाना चलता रहता है। इन दोपहिया वाहनों से दो या तीन लोग एकसाथ निकल रहे हैं। शाम के समय तो औऱ भी ज्यादा लोग घरों से निकलकर आदर्श सड़क पर घूमने के लिए निकलकर चहल कदमी करते हुए देखे जा सकते है।


जिले की सीमाओं से भी वाहनों का आना जाना हो रहा है। जिले के आसपास इंदौर, रतलाम, खरगोन, खंडवा, बड़वानी, आदि जगहों पर कोरोना वायरस के मरीज भारी संख्या में पॉजिटिव पाये गए हैं। अगर समय रहते जिला प्रशासन ने ठोस कदम नहीं उठाए तो जिले के आम नागरिकों को भारी हानि हो सकती हैं। जिला प्रशासन को सख्ती के साथ जिले की सीमाओं को सील कर देना चाहिए।


शहर के विभिन्न स्थानों से मिले पॉजिटिव मरीजो के क्षेत्रों को सील कर दिया गया है और आने जाने पर प्रतिबंध लगा हुआ है। ठक्कर मार्ग के रहवासियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस्लामपुरा गांधी कॉलोनी को सील करने के बावजूद उक्त कॉलोनी के रहवासी ठक्कर मार्ग से जिला अस्पताल की ओर आना जाना कर रहे हैं। जिला प्रशासन सख्ती से नियमों का पालन करवाये अन्यथा महामारी का विकराल रूप हो सकता है।


कोरोना वायरस से पीड़ितों की लगातार बढ़ रही है चेन


कोरोना वायरस से पीड़ित पहला मरीज मिलने के बाद उसकी पत्नी, उसके बाद महाजन हॉस्पिटल में भर्ती के दौरान वार्ड में सिस्टर ने उक्त मरीज की देखभाल की ओर सिस्टर भी पीडित हो गई। फिर सिस्टर का भाई पीडित हो गया।


पहले वाले उक्त मरीज को महाजन हॉस्पिटल से जिला अस्पताल में रेफर किया गया। इस दौरान जिला अस्पताल का चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी चपेट में आया और इसी कर्मचारी से दूसरा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भी पीड़ित हो गया और इस दूसरे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से एसएनसीयू की दो सिस्टर जो साथ में डयूटी करती हैं पीड़ित हो गई हैं।


अब यह चेन चालू हो गई है। इसीलिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी कहते है घर पर ही रहो और सोशल डिस्टेंस बनाये रखो जिससे यह चेन आगे चल नहीं सके, यह टूट जाएगी तो कोरोना वायरस की महामारी पर विजय प्राप्त की जा सकती हैं।


साभार-  पत्रकार राकेश साहू